शुक्रवार, जून 26, 2009

आज सिर्फ एक फोटो, और एक उम्मीद!!!

आज सिर्फ एक फोटो, और उम्मीद कि ये दिन जल्दी आये और मेरी बहन, मित्र, पडौसन को अपने मन की बात करने से पहले सौ दफा सोचना न पड़े...


चित्र को बड़ा करके देखने के लिए चित्र पर क्लिक करें...
Photo: Courtesy of http://blog.blanknoise.org

5 टिप्‍पणियां:

  1. यह समय दूर तो नहीं है। यद्यपि भारत का पुरुषवर्ग इसे ब्लॉक करने का बलपूर्वक यत्न करता नजर आता है।
    पर मेरे कहे को पूरा सत्य न मानें। मैं बहुत मेनस्ट्रीम में नहीं हूं समाज के।

    उत्तर देंहटाएं
  2. bahut sunder..:)..humein bhi aise hi din ka intezaar hai..:)

    उत्तर देंहटाएं
  3. नीरज भाई
    बहुत बढ़िया

    उत्तर देंहटाएं

आप अपनी टिप्पणी के माध्यम से अपनी राय से मुझे अवगत करा सकते हैं । आप कैसी भी टिप्पणी देने के लिये स्वतन्त्र हैं ।