सोमवार, जून 02, 2008

राहुल देव बर्मन का घातक फ़िल्म का एक मधुर गीत और दो घातक डायलाग !!!

राजकुमार संतोषी की फ़िल्म घातक १९९७ में आयी थी । इस फ़िल्म के दो मधुर गीतों का संगीत राहुल देव बर्मन ने दिया था और अन्य गीतों का चलताऊ गीतों का संगीत अपने अन्नु मलिक ने दिया था । आज आप सुनिये सुरेश वाडेकर और साधना सरगम की आवाज में एक बहुत प्यारा सा युगल गीत । ९० के दशक में ऐसा गीत सुनना अपने आप में बडा सुखद था (इससे साबित होता है कि लडकपन से ही हमें अच्छे संगीत की परख थी :-) ) । वो अलग गीत हुआ करते थे जो लगभग ६:३० मिनट लम्बे होते थे और चार अन्तरे होने के बाद भी उनकी मधुरता बनी रहती थी ।



इस मधुर गीत को सुनने के बाद अपने सनी देओल की आवाज में घातक के दो घातक से डायलाग, पता नही जब मैं इन डायलाग को अपलोड कर रहा था को अपने भुवनेश शर्मा जी की याद आ रही थी । तो ये डायलाग खास भुवनेश जी के लिये :-)




6 टिप्‍पणियां:

  1. साबित हो गया कि आपको अच्छे संगीत की परख थी. :)

    उत्तर देंहटाएं
  2. बड़ा नफा हुआ आपकी पोस्ट का। मैं पॉडकास्ट सुनने लगा तो पत्नीजी उठ गयीं नींद से। और सवेरे की पहली चाय आधा घण्टा जल्दी मिल गयी!
    धन्यवाद। :)

    उत्तर देंहटाएं
  3. Enjoyed the song and the dialogue both.

    -Harshad Jangla
    Atlanta, USA

    उत्तर देंहटाएं
  4. aha sunny bhaiya ki yaad dila di.....is gane me bhi shyad koi contoversy hui thi....gayal to hamne kitni bar dekhi thi...

    उत्तर देंहटाएं

आप अपनी टिप्पणी के माध्यम से अपनी राय से मुझे अवगत करा सकते हैं । आप कैसी भी टिप्पणी देने के लिये स्वतन्त्र हैं ।